एम्बुलेंस के लिए नहीं थे पैसे तो पति को ठेले पर लेकर अस्पताल पहुंची महिला

NEW DELHI: उत्तर प्रदेश के आगरा में एक महिला अपने बीमार पति को ठेले पर लाद धक्का देते हुए अस्पताल पहुंच गई। महिला को मुफ्त एंबुलेंस सेवा की जानकारी नहीं थी।

आगरा के सिंकदरा थाना क्षेत्र की K.K Nagar निवासी रेखा अपने 10 साल के बेटे के साथ पति को ठेले पर लाद कई किलोमीटर दूर एसएन मेडिकल कॉलेज तक पैदल चली गई। उसके पति के रीढ़ की हड्डी में अचानक दर्द उठा जिससे वह बहुत डर गई। आनन फानन में वह खुद भागते हुए अपने पति को लेकर अस्पताल पहुंच गई।

वहीं अस्पताल में उसकी मदद करने वाला कोई नहीं मिला। रेखा एक काउंटर से दूसरे काउंडर दौड़ती रही। इस दौरान उसके पति दर्द से कहराते रहे। हालांकि कुछ समय बाद अस्पतालकर्मियों ने उन्हें भर्ती करवाया।

डॉक्टरों ने बताया कि तीन महीने पहले रेखा के पति जगदीश एक दुर्घटना के शिकार हो गए थे। जिसकी वजह से उन्हें लकवा मार दिया था। लगवा के कारण जगदीश चलने में असमर्थन थे।

अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी मुकेश वत्स ने बताया कि महिला को मुफ्त एंबुलेंस सेवा के बारे में जानकारी नहीं थी। मालूम हो कि सरकार ने देशभर में मुफ्त एंबुलेंस सेवा चला रखा है। 108 पर कॉल कर कोई भी कहीं भी एंबुलेंस बुला सकता है। उन्होंने बताया कि रेखा के पति को भर्ती कर लिया गया है और उनका इलाज शुरू कर दिया गया है।

वहीं महिला ने भी मुफ्त एंबुलेंस सेवा के बारे में पता नहीं होने की बात स्वीकार किया। उसने बताया कि प्राइवेट एंबुलेंस वालों ने उनके पति को अस्पताल छोड़ने के लिए 500 रुपये मांगे। लेकिन पैसे नहीं होने के कारण उन्होंने खुद से जगदीश को ठेले पर लेटाया और उन्हें लेकर दौड़ती हुई अस्पताल पहुंच गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *