कैरम को देख खुद को रोक नहीं पाये रविशंकर प्रसाद, कार से उतरकर युवाओं के साथ लगाई खेल की बाजी

Ravi Shankar Prasad

New Delhi:  केंद्रीय मंत्री Ravi Shankar Prasad का नाम बीजेपी के मजबूत नेताओं में से एक नाम हैं। Bihar के Patna में 30 अगस्त 1954 को जन्में Ravi Shankar Prasad का पसंदीदा खेल Carom रहा हैं। ऐसे में अगर अब भी उनके सामने Carom आ जाये तो वह खुद को खेल पाने से नहीं रोक पाते। दरअसल, पटना में दुर्गा पूजा के दर्शन के बाद रविशंकर प्रसाद वापस लौट रहे थे कि तभी उन्हें कुछ युवा कैरम खेलते हुए दिख गए। फिर क्या था, कैरम देख रविशंकर खुद को रोक नहीं पाए और पहुंच गए खेलने।Carom में उन्होंने 20 प्वाइंट जीत लिए।

कैरम खेलते हुए उन्होंने अपना एक वीडियो ट्वीटर पर शेयर किया। जिसमें कैप्शन में उन्होंने लिखा- कैरम खेलना मेरे बचपन का शौक़ रहा है। इमरजेंसी के दौरान जेल में भी बहुत कैरम खेला था। कल पटना में दुर्गा पूजा पर माँ दुर्गा के दर्शन के बाद कुछ युवाओं को कैरम खेलते देखा तो पुरानी यादें ताज़ा हो गयीं और मैं ख़ुद को रोक नहीं पाया।

आपको बता दें कि Ravi Shankar Prasad ने पटना विश्वविद्यालय से स्नातक, परास्नातक और कानून में डिग्री हासिल की। रविशंकर प्रसाद ने राजनीति की शुरूआत छात्रनेता के रूप में हुई थी। लेकिन आपातकाल के समय पूरे देश में फैले जेपी आंदोलन के समय रविशंकर प्रसाद एक नए नेता के रूप में सामने आए। आपातकाल के दौरान इंदिरा गांधी सरकार के विरोध में कई महत्वपूर्ण आंदोलनों में उन्होंने हिस्सा लिया। आपको बता दें कि इस दौरान उन्हें जेल भी जाना पड़ा था। आपको बता दे किRavi Shankar Prasad मशहूर वकील भी रहे हैं।

जी हां, रविशंकर का नाम सुप्रीम कोर्ट के जानेमाने वकीलों में भी लिया जाता हैं। अपने शानदार काम के कारण पटना हाईकोर्ट ने साल 1999 में वरिष्ठ अधिवक्ता के तौर पर उनका नाम नामित किया था। साल 2000 में उन्होंने Supreme court की वकालत शुरू की। इस दौरान रामलला मामले ने Ravi Shankar Prasad को चर्चा में ला दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *