कुलगाम हिंसा के बाद इलाके में फैला तनाव..विरोध में कश्मीर बंद, कई इलाकों में कर्फ्यू जैसे हालात

kashmir

New Delhi: J&K में  रविवार (22 अक्टूबर) को आतंकियों के खिलाफ सेना ने तीन अलग अलग जगह पर आॅपरेशन चलाए। इस आपरेशन में जहां सेना ने 5 आंतकियों के आंतकी मंसूबों को नाकाम कर दिया तो वहीं सेना के 4 जवान शहीद हो गए। इसके अलावा कुलगाम जिले के लारू में हुए मुठभेड़ के दौरान जब एक धमाका हुआ तो उसमें 7 आम नागरिक चपेट में आ गए। इस घटना के बाद पूरे इलाके में तनाव फैला हुआ है। साथ ही अलगावादियों ने आज बंद का आह्वान किया गया है।
वहीं दूसरी तरफ अलगावदियों के बंद के आह्नान और हिंसा फैलने की आंशका को देखते हुए प्रशासन ने घाटी के ज्यादातर जगहों पर मोबाइल इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया है। साथ ही श्रीनगर में डाटा की स्पीड को सीमित कर दिया है। इसके अलावा सेना ने संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त चौकसी बढ़ा दी है। वहीं कुलगाम, पुलवामा, अनंतनाग और शोपियां के संवेदनशील इलाकों में भी किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए हवाई निगरानी में की जा रही है।

kashmir

 

मालूम हो कि कुलगाम में आम नागिरकों की जान जाने के बाद अलगावादियों द्वारा बुलाए गए बंद में पूरे Kashmir में असर देखने को मिल रहा है। Kashmir के ज्यादातार दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद है। वहीं सड़कों पर सार्वजनिक आवाजाही लगभग बंद है। साथ ही इक्के दुक्के की संख्या में निजी और तिपहिया वाहन नजर आ रहे हैं। हालांकि इसी बीच J&K  पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पूरे कश्मीर में बंद का असर देखा जा रहा है, लेकिन तनाव के बावजूद स्थिती इस वक्त नियंत्रण में हैं।

गौरतलब है कि , J&K में आंतकियों का सफाया करने के लिए  आपरेशन आॅल आउट मिशन के अभियान पर भारतीय सेना  है। इसको लेकर बड़ी तदाद में आंतकियों के मंसूबों को नाकाम सेना और सुरक्षाबलों ने किया है, हालांकि इसके बावजूद Kashmir घाटी में आतंकी घटना कम होने का नाम नहीं ले रही है। वहीं सेना और सुरक्षाबलों को लगातार स्थानीय नागिरकों के विरोध का सामना करना पड़ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *