केरल दुराचार मामला: चश्मदीद की बॉडी के पास मिली बीपी की दवाएं, DSP ने जताई आशंका

DSP R sharma

New Delhi: केरल दुराचार मामले के चश्मदीद की आज अचानक संदिग्ध परिस्थिति में जान चली गई। वहीं अब इस घटना ने एक नया मोड़ ले लाया है और कोर्ट के आदेश सुनाये जाने से पहले ही आज Eye witness गुजर गया। वहीं अब शुरूआती जांच में DSP ने बताया कि, व्यक्ति के पास से बीपी की दवाएं मिली हैं। वहीं यह भी कहा जा रहा है कि, उसने बेड पर वोमिटिंग भी की है।

साथ ही डीएसपी का कहना है कि, जब वह अस्पताल में भर्ती था तो उसको किसी भी तरह की सुरक्षा प्रदान नहीं की गई है। दसुआ के डीएसपी आर शर्मा के अनुसार इस केस के मुख्य Eye witness को किसी भी तरह की सुरक्षा प्रदान नहीं की गई थी। ऐसे में DSP की इन बातों से यह सवाल खड़ा हो रहा है कि, क्या चश्मदीद की जान जाने की पीछे कोई साजिश है। बहरहाल अभी इस मामले की जांच चल रही है और अब देखना दिलचस्प होगा कि, आखिर इस मामले में अब क्या नया मोड़ सामने आता है।

 

बता दें 54 साल के Bishop Franco पर साल 2014 से 2016 के बीच Nun के साथ दुराचार और यौन शोषण के आरोप लगे थे, जिसके कारण राजनीतिक जगत में भी काफी छाया रहा। वहीं नन ने पुलिस को अपने शिकायत में यह भी बयान दिया था कि वे मई 2014 में कुराविंलगाड गेस्ट हाउस में उनके साथ बिशप ने दुराचार किया और इसके बाद भी उन्होंने कई बार यौन शोषण किया।दसुआ के डीएसपी आर शर्मा के अनुसार केस के मुख्य Eye witness को किसी भी तरह की सुरक्षा प्रदान नहीं की गई थी। ऐसे में DSP की बातों से यह सवाल खड़ा हो रहा है कि, क्या चश्मदीद की जान जाने के पीछे किसी की साजिश है। हालांकि उनका कहना है कि, शुरुआती जांच में उसकी बॉडी के पास से दवाएं और कुछ चीजें मिली हैं. लेकिन अभी जांच चल रही है।

गौरतलब है कि, केरल में हुए इस दुराचार मामले में अब तक कई हैरान करने वाला खुलासे हुए हैं। वहीं कुछ समय पहले मुख्य आरोपी Bishop Franco कोन केरल कोर्ट ने राहत देते हुए मामला उच्च अदलात के पास भेज दिया था। वहीं अब इस घटना के मुख्य आरोपी की आज गुजर गया जिसके बाद अब मामले ने एक नया मोड़ ले लिया है। बताया जा रहा है कि, चश्मदीद की बॉडी को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

About Ashish

Enthusiast, Creative and Fair flair Writing

View all posts by Ashish →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *