हर कोई भगवान से ‘बेटा’ होने की कामना करता है, लेकिन मेरी बेटी ने उन सबका मुंह बंद कर दिया

New Delhi: कहावत है ना- काल करे सो आज कर आज करे सो अब……..लेकिन आजकल लोगों के लिए ये कहावत भी उलट है। लोग अब अपना सारा काम कल पर टाल देते हैं। कुछ लोगों का तो बस इतना सपना होता है कि किसी कॉलेज से डिग्री ले लें, जिंदगी के सारे सपने पूरे हो जाएंगे। मगर सब ऐसे ही सोचने लग जाते तो देश तरक्की नहीं कर पाता। कुछ लोग अपने सपने को जिंदगी का अहम मकसद मानकर चलते हैं। ऐसी ही कहानी मुंबई में रहने वाली लड़की की भी है। वो जानती है कैसे पैसों की किल्लतों से निकलकर उसने अपने डिग्री के सपने को पूरा किया।

इस लड़की ने बताया, जब वो कॉलेज में थी तो उन दिनों परिवार पैसों की तंगी से जूझ रहा था। मेरे पिता ने मुझे जॉब करने के लिए कहा। जहां से हम आते हैं वहां लड़कियों का जॉब करना सहीं नहीं माना जाता है, सब गंदी नजर से देखते थे। लेकिन मैं सोच चुकी थी कि मुझे डिग्री किसी भी हालत में चाहिए। मैं उन सारे प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेने लग गई जहां जीतने पर पैसे मिलते थे। फिर मैंने पार्ट टाइम जॉब की सोची। डिग्री न होने पर बहुत जगहों से रिजेक्ट होना भी पड़ा। लेकिन हार नहीं मानी। मुझे आगे पढ़ाई करने के लिए कोई रास्ता तो निकाला था।

आखिरकार, मुझे ब्रांड फैक्ट्री में इंटरव्यू मिला। जाने से पहले मैंने शीशे के सामने बोलने की प्रैक्टिस की। मैंने उन्हें भरोसा दिलाया कि पढ़ाई के साथ मैं 100 फीसदी काम करूंगी। मेरा सारा वक्त काम करके, कॉलेज जाकर, घर आकर होमवर्क करके और घरवालों की मदद करने में चला जाता है। कभी-कभी तो मेरे 15 घंटे सिर्फ काम करने में चले जाते हैं।

लेकिन मेरे अंदर जुनून ऐसा था कि अगर मैं 24 घंटे भी काम करूं तो मुझे कुछ नहीं होगा। मेरा परिवार मेरे हेल्थ को लेकर चिंता करता है। वो मुझे अकसर कॉलेज छोड़ने की बात कहते थे, लेकिन मैंने उन्हें समझाया कि हमारे परिवार में सभी ने जॉब के चक्कर में पढ़ाई छोड़ दिया। मगर मैं ऐसा नहीं करूंगी, मैं जॉब और पढ़ाई साथ करके दिखाऊंगी।

जैसे ही मेरे हाथों में एचआर की डिग्री आई। मुझे बेहद खुशी हुई कि मैंने सदियों से चली आ रही इस चेन को तोड़ दिया। पिता को डिग्री देने के बाद जो उन्होंने कहा वो वाकई में दिल छूने वाला था।उन्होंने कहा था- हर कोई भगवान से बेटे होने की कामना करता है, लेकिन आज बेटी ने उन सबके मुंह को बंद कर दिया। इस लड़की की कहानी जिसने भी पढ़ी, तारीफ करते नहीं थक रहा। इसकी कहानी कड़ी मेहनत और साहस का परिचय दर्शाती है। वे बाकी लोगों को सपने पूरा करने की प्रेरणा देती है।

About Naina

I believe in the Power of Words.

View all posts by Naina →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *