अमृतसर रेल हादसे पर नवजोत कौर के खिलाफ केस दर्ज, 3 नबंवर को होगी सुनवाई

punjab train accident

New delhi: Amritsar में दशहरा के मौके पर रावण दहन के दौरान हुए रेल हादसे में 60 से ज्यादा लोगों की जान चली गई। यह हादसा अमृतसर और मनावला के बीच फाटक नंबर 27 के पास हुआ। यह हादसा उस वक्त हुआ, जब रावण देखने के लिए लोगों की भीड़ जुटी हुई थी। बताया जा रहा हैं कि जिस वक्त यह हादसा हुआ इस वक्त मंच पर पंजाब के मंत्री Navjot Singh Sidhu की पत्नी Navjot Kaur Sidhu मंच पर मौजूद थी। वहीं नवजोत कौर का कहना हैं कि हादसे से पहले ही वो वहां से चली गई थी।

लेकिन सामने आए एक वीडियो ने उनके इस झूठ को बेनकाब कर दिया। वीडियो में हादसे के वक्त नवजोत कौर मंच पर ही थी। झूठ सामने आने के बाद उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया हैं। दरअसल, मुजफ्फरपुर में सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी ने मामला दर्ज कराते हुए हादसे का जिम्मेदार नवजोत कौर का बताया हैं। इस मुकदमे की सुनवाई 3 नवंबर को होगी।

Amritsar train

सामने आये एक नए वीडियो में दिखाई दे रहा हैं कि हादसे के 2 मिनट बाद ही यानी 6.56 मिनट पर एक लड़का मंच के करीब पहुंचा और नवजोत कौर से बात करने लगा। आपको बता दें कि 6.54 मिनट पर ये हादसा हुआ था। वहीं हादसे के बाद नवजोत कौर ने अपने सफाई में कहा कि वो हादसे से 15 मिनट पहले ही निकल गई थी। आपको बता दें कि हादसे से पहले नवजौत कौर सिद्दू ने आवभगत की फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की थी। इन तस्वीरों में आयोजक सौरभ मदान अपने हाथों से नवजोत कौर सिद्दू को मिठाई खिला रहा था।

मामले को लेकर Navjot Kaur ने बयान देते हुए कहा कि धोबी घाट ग्राउंड में रावण को ठीक से बांधा गया था, किसी भी तरह की अफरातफरी की कोई संभावना नहीं थी। वहां कोई भगदड़ भी नहीं हुई थी। ग्राउंड में सीटें खाली थीं। बार-बार लोगों से पटरी से हटने के लिए घोषणा की जा रही थी।  लोगों को मैदान में बुलाने के लिए 4-5 बार बोला गया, लेकिन लोग पटरी पर ही रामलीला देखते रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *