इस तिजोरी में बंद है करीब 46 लाख किलो सोना, सुरक्षा के इतने इंतजाम कि परिंदा भी पर ना मार सके

New Delhi: आज हम आपको एक ऐसी सिक्योरिटी के बारे में बताएंगे जिसके बारे में जानकर आप भौचक्के रह जाएंगे। दरअसल, हमें पता है कि पूरी दुनिया में अमेरिका सबसे शक्तिशाली देश है। अमरीका के सोना का भंडार है। अमरीका के इस ऑफिशियल गोल्ड रिजर्व का एक बड़ा भाग केंटुकी के फोर्ट नॉक्स जो कि एक आर्मी पोस्ट है, के पास स्थित बुलियन डिपॉजिटरी में रखा हुआ है। लेकिन सोना को इस तरह की सिक्योरिटी दी गई है कि एक परिंदा भी पर ना मार पाए।

जी हां- ये आर्मी पोस्ट 109,000 एकड़ में फैली हुई है। इसमें 22 टन के दरवाजे लगे हुए हैं और इन दरवाजों को कोड से लॉक किया गया है। इसकी मात्रा करीब 4600 टन है। इसकी छत बम प्रुफ है और इसके अंदर रखा गोल्ड वॉल्ट मोटी ग्रेनाइट की दीवारों से घिरी है और तो और ये बिल्डिंग मल्टीपल अलार्म वाली फेंसिंग से घिरी है और इसकी 24 घंटे एक हेलीकॉप्टर से इसकी निगरानी की जाती है। इस बिल्डिंग का कंस्ट्रक्शन साल 1936 में अमरीका ट्रेजरी डिपार्टमेंट ने किया था। अमरीका ट्रेजरी डिपार्टमेंट को ये जमीन अमेरिकी मिलिट्री ने ट्रांसफर किया था। साल 1988 में अमेरिका के ऐतिहासिक स्थानों की राष्ट्रीय सूची में इसे शामिल कर लिया गया।

साल 1936 में इस बिल्डिंग को बनाने के दौरान करीब 5.6 अमरिकी डॉलर यानि कि इंडियन करेंसी के मुताबिक साढ़े तीन करोड़ का खर्च आया था। किसी भी महंगे चीज को हम काफी संभाल कर रखते हैं और अब जब यहां 4600 टन सोना रखा हुआ है तो उस स्थान की ऐसी सुरक्षा का होना काफी लाजिमी है। सुरक्षा की तमाम व्यवस्थाओं से लैस इस जगह में इंसान तो दूर परिंदो के घुसने पर भी सख्त नजर रखी जाती है।

इन सारी खूबियों के चलते ये दुनिया की सबसे सुरक्षित इमारतों में से एक है। ऐसे में किसी भी बाहरी आदमी का इस बिल्डिंग में आना नामुमकिन है। बता दें कि इस बिल्डिंग में सुरक्षा के इतने इंतजाम हैं कि आप सोच भी नहीं सकते। के लिहाज से ये इतना ताबड़तोड़ है कि इस बिल्डिंग में कई सारे देश अपनी संपत्तियों को रख चुके हैं जैसे कि यूरोपियन नेशन के गोल्ड रिजर्व, मैग्ना कार्टा, यूके का क्राउन ज्वेलर्स और अमेरिकी संविधान को यहां सुरक्षित रखा गया है।

About Naina

I believe in the Power of Words.

View all posts by Naina →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *